Logo
Transcribe
हेलो एवरीवन मैं आपका दोस्त कैलाश एक बार फिर से आपके साथ एक नए टॉपिक के साथ आपको खुशियों सब जगह पर फिंगर होते हैं तो दूसरी जगह पर ट्राई करते हैं दूसरी जगह पर ट्राई फील करते हैं तो वह टी सी जगह पर ट्राई करता है और इसी ट्राई ट्राई के चक्कर में वह इतने हताश हो जाते हैं इतने निराश हो जाते हैं क्यों नहीं लगता है कि अब जिंदगी में क्या कर रही तू वह अपनी किस्मत को दोष देना चालू कर देते हैं मेरे यह हरप्रीत के अंदर रहता है जरूरी नहीं है कि यह सिर्फ शौक के लिए हो यह चीज लागू होती है स्टूडेंट्स क्यू स्टूडेंट्स b.a. का टाइम टू अटेम्प्ट इन एटम्स करते हैं उसके बाद लगातार फेल होते रहते हैं सबसे पहले चीज जो चांदनी है वह तो है नहीं तो चीज है यह है कि आप के अंदर अगर एक चीज के लिए आप कोशिश कर रहे हो तो आपको अपना लक्ष्य चेंज नहीं करने आपको बीच में 1 प्लस बनाने हैं आपका लक्ष्य आपका इन वही होगा लेकिन बीच में एक क्लैप्स होंगे यानी कि आपको एक 100 किलोमीटर जाना है तो बीच में जो 10 किलोमीटर के खिलाफ बनाओगे और 100 किलोमीटर को 10 बार में कंप्लीट करोगे इससे क्या होगा कि हर एक क्लब के अंदर आपके अंदर जो आपके अंदर भूतनी पड़ेगी कि आप आगे बढ़ सको चीज के लिए छोटी सी कहानी सुनाना चाहता हूं एग्जांपल के लिए जिसको आपको समझ में आएगा कि मैं कहना क्या चाह रहा हूं बहुत सिंपल है और आपने बहुत सारे लोगों ने किस सुनिधि होगी पुराना टाइम था तो भी अपने घर जा रहा था और उसके ऊपर कपड़े डालकर गधे के ऊपर और उसकी लगाम पकड़ कर चले जा रहा था थोड़ी दूर जाता है तो वहां पर कुछ लोग खड़े होते हैं लोग कहते हैं उसको के भाई कैसा आती है इस गधे के ऊपर इतना बोला डोकर तुझे लेकर जा रहा है तू भी ना सोचा क्या बात तो सही कह रहा है तू क्या करता है कि उस कपड़े की पोटली को अपने सर पर रख लेता है और गधे को दूर पकड़कर चल रहा है लगाम पकड़ के थोड़ी दूर पर कुछ लोग और खड़े होते हैं रूसे कहते यार कैसा आदमी है गधे की होते हुए खुद भी पैदल चल रहा है और ऊपर से बुझा भी अपने सर पर रख रखा है उसको यह बात भी सही लगती है वह क्या करता है गधे के ऊपर बैठ जाता है और सर के ऊपर थोड़ी दूर आगे चलते लोग मिलते हैं सर पर रख कर और खुद इसकी खुद भी बैठ गया और भुजा भी सर पर है और इसके ऊपर बैठ गया गधे के ऊपर यह क्या बात हुई वह क्या है कि थोड़ी दूर पर जाता है अपने घर पहुंच जाता जैसे तैसे करके और उसके बाद नेक्स्ट डे से वह खुद ही पोटली उठाए हुए धोबी घाट जाता है कहने का मतलब यह है कि हमारी लाइफ भी कुछ इसी तरीके से हो चुकी है हमारे को कोई कहता कि यार मुझे लगता है कि तू इसमें बहुत अच्छा कर सकता है और हम उसी में लग दूसरा आदमी आता तो बोलता है इसके लिए बनाई नहीं है भाई तू इस चीज के लिए कर रहा है हम उसके लिए कोशिश करने लगते हैं और उसका नतीजा यह रहता है कि हमारा जो चीज के फोकस होती है हमारी जो चीज के लिए एम होता है कि हम क्या करना चाहते हैं लाइफ में कभी कर ही नहीं पाते और हम हमेशा दूसरों के कहने में ही उलझ जाते हैं और हम आधा आधा आधा करते हुए हम कोई भी चीज पूरी नहीं कर पाते सबसे पहले अपने आप को जानना जरूरी है कि आप क्या है आपके अंदर क्या चीज है कि जिससे आप औरों से अलग आपको बनाती है इस भगवान ने रिकॉर्डिंग सबसे बड़ा क्रिकेटर है उसने हर इंसान को एक अलग खूबी के साथ पैदा किया है आपको अपने अंदर कि वह खुद ही निकालनी है कि आप क्या कर सकते हो कोई अच्छा बोल सकता है कोई अच्छी एक्टिंग कर सकता है कोई अच्छा गाना गा सकता है कोई अच्छी शॉर्ट स्टोरीज बोल सकता है कोई आतंकवादी बन सकता है कोई उत्तर बन सकता है आप सबसे पहले इस चीज को पहचानिए कि आप क्या है आपके अंदर किस चीज को लेकर इंटरेस्ट है क्या यह कैसी चीज है मैं इस बात को आप लोगों को गौर करके कहने की बात कहना चाह रहा हूं कि आप इस चीज को समझ गया कि आपको ऐसी कौन सी चीज है सबसे पहला क्वेश्चन यही आएगा लोगों का कि हम अपने आप को कैसे जाने कि किस तरीके से हम अपने आप को जान सकते हैं तो सबसे पहले जानने का सबसे अच्छा एग्जांपल यही है कि आप इस चीज को समझें कि कैसी कौन सी चीज है जो आप फ्री में कर सकते हो बिना कोई पैसे की यानी आपको उस चीज के लिए ₹1 भी नहीं मिले तो आप उसको इंजॉय करते हुए आपका पैशन मानते हुए उसको कर सकूं दोस्त यही वह चीज होगी जो आपको आपका फैशन बनाएगी कि हां जिस व्यक्ति जिसके लिए मैं कुछ भी कर सकता हूं वह कुछ भी हो सकता है किसी को पेंटिंग बनाने का शौक हो सकता है किसी को गाना गाने का शौक हो सकता है तो पहले चीज को पहचानिए कि आप ऐसी कौन सी चीज है जिसको पैसे लेट के लिए कर सकते हैं दूसरी बात आती है कि हमें तो खींच बताएं हमारे अंदर क्या है लेकिन हमारे पास समय नहीं मिलता मेरे भाई समय किसी के पास नहीं है सब के पास जो है 24 वर्ष है 24 घंटे हैं सभी के पास आपके पास भी मेरे पास भी इस दुनिया में जो दूसरी लोग जी रहे हैं उनके पास भी तो टाइम तो निकालना पड़ेगा हम भी फूलों की इधर उधर जाए हम बैठकर अपने फेसबुक या दूसरे सोशल मीडिया के टाइम के अंदर हम हमारी स्किल्स को डिवेलप करने के लिए लगा सकते हैं आप ज्यादा नहीं शुरुआत कीजिए शुरुआत में 15 मिनट दीजिए अपने आप को अपने आप को समय देना जरूरी है आप जिस दिन भी अपना समय देना शुरू कर देंगे अब धीरे-धीरे अपने आपके अंदर चेंज महसूस करने लगेंगे अब जितना टाइम अपने आपको देंगे वो टाइम आपको और उसे बहुत अलग बनाएगा मैं अब इस फ्री को ज्यादा नहीं खींच लूंगा अब मैं यही पेंट करना चाह रहा हूं मैं कल फिर आऊंगा एक नया पिक के साथ में तब तक अगर आपको कोई और टॉपिक चाहिए जिस पर आप जानना चाहते हैं कि हमें अब चाहते हैं कि मैं उसके ऊपर बोलूं तो अपने कमेंट के अंदर मुझे बता सकते हैं मुझे बहुत खुशी होगी आप अपना फीडबैक नहीं क्या आपको कैसा लगा यह मेरी एक सौ बात है यहां पर और जैसे-जैसे यह जुड़ेगा हम इसको और अच्छी तरीके से करने की कोशिश करूंगा थैंक यू गुड नाईट